राजू श्रीवास्तव की मौ’त से टूट गईं पत्नी श‍िखा, बोलीं- वो सच्चे फाइटर थे, उम्मीद थी की…

राजू श्रीवास्तव की मौ’त से टूट गईं पत्नी श‍िखा, बोलीं- वो सच्चे फाइटर थे, उम्मीद थी की…

कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव के निधन से उनके तमाम चाहने वाले दुखी हैं. राजू के चले जाने से हर किसी का दिल भारी है और आंखें नम हैं. लंबी बीमारी के बाद राजू श्रीवास्तव ने 58 साल की उम्र में आंखिरी सांस ली. उनके निधन से कॉमेडी की दुनिया में सन्नाटा छा गया है.

राजू के निधन से सबसे ज्यादा दुख उनके परिवार को पहुंचा है. राजू की पत्नी शिखा श्रीवास्तव पर तो जैसे दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है. राजू श्रीवास्तव की बीमारी में शिखा साय की तरह कॉमेडियन के साथ रही हैं. राजू के निधन से शिखा गहरे सदमें में हैं.

राजू के निधन के बारे में TOI संग बात करते हुए उन्होंने कहा- मैं अभी बात करने की हालत में नहीं हूं. मैं अब क्या कह सकती हूं. उन्होंने बहुत संघर्ष किया. मैं प्रार्थना कर रही थी और मुझे उम्मीद थी कि वो इससे बाहर आ जाएंगे. लेकिन ऐसा हो नहीं पाया. मैं बस इतना ही कह सकती हूं कि वो एक सच्चे फाइटर थे.

राजू श्रीवास्तव जबसे अस्पताल में भर्ती है, तभी से उनका भतीजा कुशाल श्रीवास्तव और फैमिली डॉक्टर Aneel Murarka राजू का हालचाल लेने अस्पताल का दौरा कर रहे थे. अब राजू के गुजरने पर उनके भतीजे ने कहा- उनका निधन सेकेंड कार्डियक अरेस्ट की वजह से हुआ है. कल तक हमें इस बात को लेकर कॉन्फिडेंट थे कि सब कुछ ठीक हो जाएगा, क्योंकि वो पिछले दो महीनों से इससे लड़ रहे थे.

वहीं, राजू के निधन पर डॉक्टर अनील का कहना है- राजू भाई और मैं कॉलेज के समय से दोस्त थे. मैं 37 सालों से ज्यादा समय से उन्हें जानता था. हम दोनों ने ही स्ट्रगल किया. उस समय हमने सोचा भी नहीं था कि हम यहां तक पहुंच जाएंगे. राजू भाई ने जिस तरह से जिंदगी जी है उसपर हमें गर्व है. मैं प्रार्थना करूंगा कि वो जहां भी रहे उन्हें शांति मिले.

राजू श्रीवास्तव के निधन पर उनके ब्रदर इन लॉ ने कहा- कल रात तक उनकी तबीयत अच्छी थी. उनकी दवा भी कम कर रही थी. हमें उम्मीद थी कि तीन दिन के बाद उन्हें वेंटिलेटर से उतार देंगे. फिर अचानक मॉर्निंग में उनका बीपी डाउन हो गया. बीपी डाउन होने के बाद फौरन उन्हें पीसीआर दिया गया, वो रिवाइव भी कर गए थे. उसके दस मिनट बाद दोबारा बीपी डाउन हुआ, फिर पीसीआर देते रहे, लेकिन फिर वो कोलैप्स कर गए. दिल्ली में ही उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा. परिवार वाले दिल्ली पहुंच चुके हैं और कुछ रास्ते में हैं.

राजू श्रीवास्तव के दूसरे भतीजे रजत भी कॉमेडियन के निधन से बेहद दुखी हैं. उन्होंने कहा- मेरे ताऊ राजू जी का जाना बेहद दुखद है. पूरा परिवार गम में है. उनका जाना परिवार के लिए गहरा सदमा है. वह हमेशा बच्चों का ध्यान रखते थे. परिवार के लोगों से मिलना, मोहल्ले में निकलना उनके लिए आम होता था.

रजत ने आगे कहा- कुछ महीने पहले ही वो कानपुर आए थे, जब आखिरी बार उनसे मुलाकात हुई थी. वो बच्चों को हमेशा आगे बढ़ने की सीख देते थे. आज सुबह 10:00 बजे पता चला कि वह नहीं रहे, उसके बाद पूरा परिवार सदमे में आ गया और सभी लोग अब दिल्ली पहुंच रहे हैं. कानपुर के खाने, अंदाज और परिवार के साथ समय बिताने के वह शौकीन थे. इस कमी की भरपाई नहीं हो पाएगी.

राजू श्रीवास्तव अपनी पत्नी से बेपनाह प्यार करते थे. दोनों की लव स्टोरी किसी फिल्म की कहानी से कम नहीं थी. राजू ने पत्नी का दिल जीतने के लिए करीब 12 साल का लंबा इंतजार किया था. दरअसल, राजू ने अपने भाई की शादी में पहली बार पत्नी को देखा था और देखते ही दिल दे बैठे थे. उन्होंने तभी फैसला कर लिया था कि शादी करेंगे तो शिखा से ही करेंगे. राजू खुद तो प्यार का इजहार करने की हिम्मत नहीं कर पाए थे इसलिए घरवालों के जरिए रिश्ता भिजवाया था. फिर इस तरह राजू की लव स्टोरी मुकम्मल हुई और 1993 में उनकी शिखा से शादी हो गई. लेकिन अब इन दो प्यार करने वालों की जोड़ी टूट गई. राजू के जाने के बाद शिखा अकेली हो गई हैं.

राजू श्रीवास्तव की बात करें तो उनका जन्म 25 दिसंबर 1963 को कानपूर के उन्नाव में हुआ था. वे मिडिल क्लास फैमिली से ताल्लुक रखते थे. राजू को बचपन से ही कॉमेडी का शौक था. वे बचपन से ही मिमिक्री करते थे. वो एक कॉमेडियन बनना चाहते थे और उन्होंने एक छोटी सी जगह से निकलकर अपने सपने को न सिर्फ सच किया, बल्कि इज्जत और नाम भी कमाया.

राजू के बारे में जितना पढे़ंगे, उससे यही जानेंगे कि पर्सनल लाइफ हो या फिर प्रोफेशनल, राजू जिस चीज का भी सपना देखते थे उसे पाने में जान लगा देते थे. शिखा संग शादी करना हो या फिर कॉमेडियन बनना, राजू ने कभी हार नहीं मानी, वो आगे बढ़ते गए और अपनी ईमानदारी और लगन से कामयाब भी हुए. आज राजू के जाने से उनके तमाम चाहनेवालों के दिल टूट गए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.