मुसलमान के घर शादी करने की जिद पर अड़ी थी हिन्दू डाक्टर लड़की,महात्मा के दर्शन होते ही किया शादी से इन्कार

मुसलमान के घर शादी करने की जिद पर अड़ी थी हिन्दू डाक्टर लड़की,महात्मा के दर्शन होते ही किया शादी से इन्कार

दोस्तों प्यार के मामले जंहा आज के युवाओ के लिए धर्म ,जाति के कोई मायने नही है . इन सबको परे रख प्रेमी शादी के बंधन में बंध कर एक साथ अपने नये जीवन की शुरुआत करना चाहते है वही आज भी परिवार वाले अपने बच्चो को दुसरे धर्म में शादी करने की अनुमति नही देते .वैसे भी आजकल लव-जिहाद का मामला काफी सुर्खियों में है .

आज हम आपको प्यार के एक ऐसे मामले के बारे में बताने वाले है जिसमे दुसरे धर्म के लड़के के प्यार में पागल हुयी लड़की से परेशान हुए माता -पिता ने कुछ ऐसा किया कि लड़की का बदला मन क्या है पूरा मामला जानने के लिए खबर को अंत तक पढ़े .

दरअसल, ये मामला कर्नाटक के मैंगलोर में देखने को मिला है । जिसमे एक हिंदू डॉक्टर लड़की एक मुसलमान से शादी करने वाली थी। बेटी की जिद से घरवाले भी बेबस थे। लेकिन फिर कुछ ऐसा हुआ कि लड़की ने शादी से इंकार कर दिया। आइए जानते हैं आखिर कैसे बदल गई लड़की का दिल।

मैंगलोर की लड़की को न केवल खुद मुस्लिम लड़के से प्यार हो गया, बल्कि उसने अपने परिवार वालों को भी मना लिया। शादी की तारीख भी तय हो गई थी लेकिन उसके बाद कुछ ऐसा हुआ कि उसके दिमाग से लड़की की शादी का ख्याल आ गया।एक हिंदू लड़की और एक मुस्लिम लड़के की शादी का कार्ड लीक हो गया था और सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था।

स्थानीय हिंदू संत वज्रदेही महाराज को जैसे ही एक हिंदू लड़की की मुस्लिम लड़के से शादी की खबर मिली, वे बहुत दुखी हुए। वह खुद लड़की के घर पहुंचे और उसे हिंदू धर्म के बारे में समझाया।

जब लड़की ने संत के मुख से हिंदू धर्म की महानता सुनी तो उसने विवाह न करने का मन बना लिया। लड़की को अपने किए पर पछतावा भी था। हिंदू धर्म का पाठ पढ़ाने के बाद संत महात्मा ने अपने साथ लाए पानी से लड़की को आचमन किया और उसका मन भी शुद्ध किया। जब यह मामला सोशल मीडिया पर आया तो लोगों ने संत वज्रदेही महाराज की जमकर तारीफ की। लोगों ने यह भी कहा कि अगर कुछ और संत भी इसी तरह काम करने लगे तो देश से लव-जिहाद खत्म हो सकता है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.