कुत्ता समझकर घर ले आये थे परिवार वाले, डाक्टर ने देखते ही बुला ली पुलिस, परिवार वालों के उड़े होश?

कुत्ता समझकर घर ले आये थे परिवार वाले, डाक्टर ने देखते ही बुला ली पुलिस, परिवार वालों के उड़े होश?

कुत्ता एक बहुत ही प्यारा जानवर होता है ! बहुत से लोग अपने घरो में कुत्ते को पलना पसंद है और कुता भी परिवार के लोगो के साथ जल्दी गुल मिल जाता है और परिवार का एक सदस्य बन जाता है ! कुत्ता उस परिवार के साथ एक ऐसे रिश्ते में बंध जाता है कि अपनी सारी उम्र उस रिश्ते को बफदारी से निभाने के लिए अपनी जान तक दे देता है ! लेकिन आज हमारे सामने एक बहुत ही अजीव मामला सामने आया है ! जहाँ एक परिवार एक जिव को कुत्ता समझ कर अपने घर ले आते है और उसे बड़े प्यार से पालने लगते है लेकिन उसकी हरकतों को देख कर जब उसकी जांच करवाते है तो हैरान रह जाते है !

बता दें कि दरअसल चीन के यूनान प्रांत में एक सू युन नाम की महिला को कुत्तो से बहुत प्यार था वो और उसका परिवार कुत्ता पालने की सोचने लगे और एक दिन इसी चाह में एक बाज़ार से एक कुत्ते का प्यारा सा पिला ले आये ! इसे लाते ही परिवार वालो ने इसे बहुत प्यार से रखा ! इसकी खूब देख भाल करने लगे और रोज इसके साथ खेलने लगे ! ये कुत्ता अन्य कुत्तो से थोडा सा अलग दीखता था इसीलिए सू युन ने बाज़ार से ये पिल्ला खरीदते समय इसकी नस्ल के बारे में पूछा ! जिस पर दूकान दार ने कहा कि ये प्यारा सा पिल्ला कुत्तो की मास्तिफ़ प्रजाति का है जिसे सुनते ही सू युन और उसके परिवार को लगा की ये तो कोई ख़ास किस्म का पिल्ला है ! और इसे पालने में हमें बहुत मजा आएगा ! परिवार ने उस कुत्ते का नाम प्यारा ‘छोटू ब्लैकी’ रखा था !तो चलिए हम आपको बताते है आखिर क्या खास बात थी इस पिल्लै में !

सू यून के परिवार को हैरानी तब हुयी जब उन्होंने नोटिस किया कि उनके पिल्लै को जब भूख लगती है तो वो इनता कुछ खा जाता है कि सब हैरान रह जाते है ! पहले परिवार ने सोचा कि ये पिल्ला कोई ख़ास नस्ल का होने के कारण इतना खा लेता है ! दरअसल वो छोटा सा पिल्ला रोज करीब 2 बाल्टी पास्ता और 1 पेटी फल खा जाता था। फैमिली को ये बात तो पता थी कि, कुत्ते को भूख लगती होगी, लेकिन उन्होंने इतना खाने वाला कुत्ता कभी नहीं देखा था।

दूसरी सबसे बही हैरान कर देने वाली बात ये थी की कुत्ता भोंकता नहीं था ! जी हाँ कुत्ते तो अक्सर भोंकते है लेकिन ये एक ऐसा अनोखा कुता था जो भोंकता नहीं बल्कि बड़ी ही अजीब तरह से जोर जोर से चिल्लाता था ! दरअसल किसी ने भी ऐसा कुता कहीं नहीं देखा था जो चिल्लाता था ! परिवार वालो को थोडा सा अजीव लगा और परिवार उससे थोडा डरने लगा ! लेकिन फिर भी परिवार उसे खूब प्यार देता था बस यही सोच कर की उनके पास दुनिया का सबसे अनोखे किस्म का कुत्ता है !

एक दिन कुत्ता परिवार के साथ खेल रहा था और परिवार वालो ने देखा कि अचानक ही कुत्ता सीधा खड़ा हो गया ! परिवार कुत्ते की ये हरकत देखते हैरान रह गया क्यूंकि उन्होंने कभी भी कुत्ते को खड़ा होना नहीं सिखाया था लेकिन फिर भी कुत्ता अपने दो पैरो के ऊपर खड़ा हो गया !

परिवार जब इसे बाज़ार से खरीद कर लाया था उसके कुछ समय के बाद ही उसमें काफी बदलाब देखने को मिले ! बहुत जल्दी ये बढ़ने लगा ! उसे खूब भूख लगती थी और जम कर खाता था ! इस कुत्ते की उम्र अभी 2 साल की ही हुयी थी लेकिन वो 1 मीटर ऊंचा हो गया और उसका वजन 110 किलो हो गया ! पिल्ले की ऊंचाई और वजन बढ़ता देख सू युन हैरत मे पड़ गए। उनके दिमाग में ये सवाल आने लगा कि, कोई कुत्ता इतनी तेजी से कैसे बड़ा होगा?

कुत्ते में न केवल उसका वजन और उसकी हाईट वाली हैरान कर देने वाली बात थी बल्की कुत्ते के दांत भी बहुत तेज़ गति से बड़े हो रहे थे बिलकुल ऐसे जैसे कोई शिकारी जानवर हो औए एक बार में ही अपने शिकार को दबोचने में सक्षम हो ! कुछ ही दिनों में उसका आकार भी बदलने लगा ! अब वो कुता नहीं बल्कि कोई जंगली जानवर की तरह ही दिखने लगा ! । इन सभी चीजों को देखकर परिवार काफी चिंतित हो गया। उनके दिमाग में ये आने लगा कि, एक कुत्ता पालने की कीमत कहीं जान गंवाकर तो नहीं चुकानी पड़ेगी।

अब कुत्ते के मालिक यानी सू युन जानवरों के डॉक्टर के पास पहुँचे। डॉक्टर देखते ही समझ गया कि, ये कुत्ता नहीं बल्कि कोई और ही जानवर है। डॉक्टर ने बिना देरी किए यिलियांग काउंटी पब्लिक सिक्योरिटी ब्यूरो वालों को बुलाया। इसके बाद इस ब्यूरो को फैमिली ने बताया कि, ये दो बाल्टी पास्ता और एक फलों की पेटी बड़े ही आसानी से खा लेता था

जब डाक्टर ने परिवार को बताया की असल में ये कुत्ता है ही नहीं तो परिवार को बहुत आश्चर्य हुआइस ! इतने वक़्त जिसे कुत्ता समझ कर पालते रहे वो तो कोई जंगली जानवर था जो कभी भी परिवार की जान भी ले सकता था ! आपको भी जानकार हैरानी होगी कि कुत्ता नहीं बल्कि एक खूंखार काला एशियाई भालू था, यिलियांग काउंटी पब्लिक सिक्योरिटी ब्यूरो के अधिकारी आए और इस भालू को अपने साथ ले गए। IUCN के अनुसार इस जानवर के कई नाम हैं।

इसे लोग कॉलर बेयर, मून बेयर या तिब्बती भालू भी कहा जाता है। IUCN ने इसे लुप्तप्राय प्राणी की श्रेणी में रखा है। इस भालू के अधिक शिकार होने की वजह से इसकी संख्या अब काफी कम हो चुकी है। परिवार ने समय रहते इस खूंखार जानवर की पहचान की नहीं तो उसे पालने का अंजाम उनके लिए बहुत खतरनाक हो सकता तह !

Leave a Reply

Your email address will not be published.