इस देश में चलती है बच्चा पैदा करने की फेक्ट्री, 45 लाख में घर ले जा सकते हैं मन पसंद बच्चा

इस देश में चलती है बच्चा पैदा करने की फेक्ट्री, 45 लाख में घर ले जा सकते हैं मन पसंद बच्चा

मां बनना हर औरत के लिए एक वरदान माना जाता है। 9 महीने एक शिशु को अपने कोख में रखकर उसे जन्म देने के बाद मां का उस बच्चे से एक भावनात्मक रिश्ता जुड़ जाता है। ये ऐसा पल होता है जो उस मां को उसकी जिंदगी भर की खुशियां दे देता है।

लेकिन सोचिए अगर 9 महीने किसी बच्चे को अपने कोख में रखने के बाद उसे किसी और को दे देने से उस मां पर क्या बीतती है इस बात का अंदाजा शायद ही हम लगा सकते हैं लेकिन दुनिया के एक देश में ऐसा होता है जहां औरत को एक बच्चा पैदा करने वाली फैक्ट्री के अलावा और कुछ नहीं माना जाता है। इसे सेरोगेसी (Surrogacy )कहते हैं। इस प्रक्रिया में एक औरत एक बच्चे को जन्म देकर किसी दूसरे कपल्स को बेच देती है।

ऐसा भी होता है जहां मां की भावनाओं को पूरी तरह से नष्ट करके उसे केवल बच्चा पैदा करने वाली मशीन बना दिया जाता है। यूक्रेन रूस के पास बसा हुआ एक बहुत ही खूबसूरत देशों में से एक है। लेकिन यहां पर सेरोगेसी केवल कानूनी तौर पर नहीं चलाई जाती बल्कि इसे एक अंधाधुन व्यापार बना दिया गया है। यहां पर कई सारे बच्चे पैदा करने की फैक्ट्रियां ( Hellish baby factory ) हैं जहां 40 से 42 लाख रुपए देकर एक बच्चे को खरीदा जा सकता है। Britain के British couple इस सरोगेसी का सहारा लेते हैं।

एशिया में कई सारे ऐसे देश हैं जैसे भारत नेपाल बांग्लादेश आदि जहां सेरोगेसी सख्त मना है लेकिन यूक्रेन में यह एक कानूनी व्यापार माना जाता है। जिन कपल्स को बच्चा नहीं होता है उनके लिए यह एक वरदानदाई है। बियाका और विनी स्मिथ नाम के एक कपल में खुद इस सरोगेसी प्रक्रिया के द्वारा अपने दो जुड़वां बच्चों के लिए इस फैक्ट्री की सारी सच्चाई को पूरी दुनिया में उजागर किया है।

इस कपल ने अपने इंटरव्यू में यह बताया कि ब्रिटेन में सरोगेसी मान्य है लेकिन यूक्रेन में या अंधाधुंध तरीके से चलाई जाती है। यूक्रेन में सभी कंपनियां संगठित होकर एक प्रमोशनल वीडियो और एक इवेंट की तरह इसे चलाते हैं। जिसमें लोग बच्चों के साथ खुश देखकर इस व्यापार की तरफ आकर्षित हो।

उन्होंने यह भी बताया कि भले ही इन सारी वीडियो में इस सरोगेसी को एक अच्छी तरह से दिखाया जाता हो लेकिन इसके पीछे की सच्चाई बहुत ही भयानक और दर्दनाक है। बच्चा पैदा करने वाले औरतों के साथ बहुत ही जुल्म किया जाता है गर्मियों में उन्हें बिना एसी के रखा जाता है और उन्हें अपने परिवार वालों से मिलने की इजाजत भी नहीं होती है।

इस कपल ने यह भी बताया कि जब वह डिलीवरी के समय वहां पहुंचे तो वहां का माहौल बहुत ही गंदा था जहां बच्चों को डिलीवर किया जाता है। उन महिलाओं को इस काम के लिए 10 साल में 10 लाख रुपए दिए जाते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.