चमत्कार : डॉक्टरों ने कर दिया था बच्चे को मृ’त घोषित, माँ की पुकार सुनकर चलने लगी बच्चे की सांस!

चमत्कार : डॉक्टरों ने कर दिया था बच्चे को मृ’त घोषित, माँ की पुकार सुनकर चलने लगी बच्चे की सांस!

आज भी दुनिया में हर एक दिन कुछ न कुछ नये चमत्कार होते रहते हैं । ऐसा भी कहा जाता हैं लोगों द्वारा कि दुनिया में आज भी भगवान मौजूद हैं , जिसके कारण आज भी लोगों में भगवा’न के प्रति आस्था और प्रेम देखने को मिलता है। आज भी अक्शर कई ऐसी खबरें सामने आती हैं जिसको सुन’ने के बाद इंसानों को विश्वास नहीं होता हैं।कई बार तो वो सोच में पड़ जाते हैं कि क्या ये बात सच हो सकती हैं क्या !

दोस्तों हम सबको पता है कि इस दु’निया का सबसे बड़ा जो सच है वो मृत्यु हैं। क्योंकि इस दुनिया में जिस व्यक्ति ने भी जन्म लिया है उसे एक ना एक दिन इस दुनिया को छोड़कर जाना ही हैं। क्या अपने कभी सुना है कि मृत इंसान फिर से जीवित हो गया हो? नहीं ही सुना होगा। लेकिन वो कहते हैं ना इंसान का जन्म और मरण दोनों ही ऊपर वालों के हाथों में होता हैं। आइए जानते हैं पूरी स्टोरी।

जब तक भगवान नहीं चाहेगा तब तक किसी इंसान का जन्म धरती पर नहीं हो सकता हैं ठीक उसी के वि’परीत जब तक भगवान नहीं चाहेगा तब तक किसी इंसान की मृत्यु भी संभव नहीं हैं। आज हम आपको एक ऐसी घटना का बारे में बतायेंगे जिससे सुनकर आप भी प्रश्न क’रेंगे कि ये कैसे सच हो सकता हैं । और इस कहानी को पूरा जानने के बाद आप भी भगवान पर विश्वास करने लगेंगे।

आपको बता दे हम जिस घटना की बात करने वाले है वो हरियाणा से जुड़ी हुई हैं। इस घटना को सुनकर आपको ये एक फि’ल्म की कहानी की तरह लग सकता हैं मगर ये सच है कि एक मरा हुआ बच्चा अपनी मां की पुकार सुनकर दुबारा से जीवित हो गया है। ये किसी चमत्कार से कम नहीं है।

 

आपको बता दूँ यह पूरा मामला हरियाणा के बहादुरगढ़ का है जहाँ डॉक्टर ने एक छोटे से बच्चे को मृ’त घोषित कर दिया था लेकिन जब उसकी अंतिम संस्कार की तैयारी चल रही थी तब अचानक से बच्चे की साँसे चलने लगी और वहाँ मौजूद सभी लोग इसे देखकर हैरान हो गए। दिल्ली में बच्चे के इलाज के दौरान 26 मई को डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था जिसके बाद उसके परिजन उस बच्चे को लेकर अपने शहर बहादुरगढ़ आ गए थे।

अपने छोटे से बच्चे के मृत शरीर को देखकर उसकी माँ का रो रोकर बुरा हाल हो गया था। मां अपने बच्चे के सिर को चूम-चूमकर बुरी तरह रो रही थी और वह अपने बच्चे को बार बार कह रही थी कि उठ जा मेरे बच्चे और इसी दौरान अपने मां की पुकार सुनकर बच्चे की अचानक से सांसे चलने लगी। और ये अनोखा चमत्कार देखने को मिला जिसकी चर्चा कुछ ही समय में चारो और होने लगी।

जब वहाँ मौजूद लोगों ने देखा कि अचानक से बच्चे के शरीर में हलचल हो रही है तो उन्होंने तुरंत उस बच्चे को ले जाकर निजी अस्पताल में भर्ती करवाया । निजी अस्पताल में 20 दिनों के इला’ज के बाद बच्चा पूरी तरह से स्वस्थ हो गया। स्थानीय सूत्रो से मिली जानकरी के अनुसार हरियाणा के बहादुरगढ़ के रहने वाले हितेश और उनकी पत्नी जा’नवी का बेटा टा’इफाइड होने की वजह से कुछ दिनों से बीमार चल रहा था, जिसके बे’हतर इलाज के लिए उसे दिल्ली के एक अस्पताल में एडमिट कराया गया था। जिसके बाद 26 मई को उस बच्चे को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया था।

जब उसकी मां उस बच्चे को अपनी गोद में लेकर उसे पु’कार रही थी , तब अचानक से उसकी साँसे चलने लगी, जिसके बाद उनके परिजनों द्वारा बच्चे को तुरंत सामने के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया । डॉक्टरों ने उस बच्चे को देखने के बाद कहा था कि बच्चे के बचने की उ’म्मीद महज 15% है, इसके बाद भी परिजनों ने डॉक्टरों से कहा कि आप जल्द ही बच्चे की इलाज शुरू कर दीजिए।

इलाज शुरू होने के बाद बच्चे की तेजी से रि’कवरी होने लगी और 21 दिन बाद वो पूरी तरह से ठीक होकर वह अपने घर को वापस आ गया । उस बच्चे के ठीक होकर घर पहुंचने पर पूरे गांव में खुशी का माहौल बना हुआ है । गांव में मौजूद सभी लोगो का मानना है की ये घटना किसी चमत्कार से कम नहीं हैं और ये सब इश्वर की मर्जी से हुआ, जिससे एक माँ को उसका बच्चा दु’बारा मिल गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.